Ajay Kumar Sood PSA
अजय कुमार सूद (Ajay Kumar Sood) बने भारत सरकार के नए प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार (PSA)
April 26, 2022
Suman Bery
नीति आयोग की नए उपाध्यक्ष बने सुमन बेरी (Suman Bery)
April 26, 2022

AYUSH : वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि देश जल्द ही गुणवत्ता वाले आयुष (आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी) उत्पादों को प्रामाणिकता देने के लिए ‘आयुष मार्क’ लॉन्च करेगा। यह लॉन्च राष्ट्र के पारंपरिक चिकित्सा उद्योग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया जाएगा।

आयुष (AYUSH) क्या है?

1995 में आयुष प्रणालियों को विकसित करने के उद्देश्य से भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी विभाग (ISM & H) बनाया गया था। वर्ष 2003 में इस विभाग का नाम बदलकर आयुष विभाग कर दिया गया। 9 नवंबर 2014 को आयुष मंत्रालय का गठन प्राचीन दवाओं के ज्ञान को पुनर्जीवित करने और आयुष से संबंधित स्वास्थ्य देखभाल के विकास को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से किया गया था। आयुष मंत्रालय ने पारंपरिक चिकित्सा के क्षेत्र में स्टार्टअप संस्कृति को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से भी कदम उठाए हैं। एक ऊष्मायन केंद्र का हाल ही में उद्घाटन किया गया था जिसे अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान द्वारा विकसित किया गया है।

आयुष मार्क (AYUSH Mark) क्या है?

आयुष मार्क को देश में उत्पादित गुणवत्ता वाले आयुष उत्पादों को प्रमाणीकरण प्रदान करने के लिए लॉन्च किया जाएगा। इसके लॉन्च के बाद नवीनतम तकनीक का उपयोग करके उत्पादों की गुणवत्ता के लिए पूरी तरह से जांच की जाएगी। विश्व के 150 देशों में निर्यात बाजार बनाने के उद्देश्य से भारतीय मानक ब्यूरो के सहयोग से आयुष के विशेषज्ञों द्वारा ISO मानकों का विकास किया जा रहा है।

आयुष वीजा (AYUSH VISA) क्या है?

आयुष वीजा उन सभी व्यक्तियों की मदद करेगा जो पारंपरिक उपचार के लिए भारत आना चाहते हैं। आयुष वेलनेस सेंटर दुनिया भर से बहुत सारे आगंतुकों को आकर्षित करने में सक्षम होंगे जिससे देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।

यह भी पढ़ें

Crypto-Backed Credit Card : दुनिया का पहला क्रिप्टो-समर्थित क्रेडिट कार्ड लांच

Comments are closed.