एरियल हेनरी (Ariel Henry) बने हैती के प्रधानमंत्री
July 23, 2021
DRDO ने विकसित किया उच्च शक्ति वाला बीटा टाइटेनियम मिश्र धातु
July 23, 2021

सरकार द्वारा नोएडा में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेरिटेज (Indian Institute of Heritage) की स्थापना की जाएगी। यह देश में अपनी तरह का पहला संस्थान होगा।

ये हैं खास बातें

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेरिटेज (Indian Institute of Heritage) की स्थापना की जाएगी और यह देश की समृद्ध विरासत पर ध्यान केंद्रित करेगा और राष्ट्र के सांस्कृतिक पहलुओं पर शिक्षा प्रदान करेगा।
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेरिटेज में ऑफर किए जाने वाले कोर्स
  • यह संस्थान छात्रों को निम्नलिखित विषयों में पीएचडी के साथ-साथ परास्नातक पाठ्यक्रम भी प्रदान करेगा।
  • पाण्डुलिपिविज्ञान (Manuscriptology)
  • संग्रहालय विज्ञान (Museology)
  • पुरातत्त्व (Archaeology)
  • निवारक संरक्षण (Preventive Conservation)
  • संरक्षण (Conservation)
  • अभिलेखीय अध्ययन (Archival Studies)
  • पुरालेख और मुद्राशास्त्र (Epigraphy and Numismatics)
  • कला का इतिहास (History of Arts)

भारतीय विरासत संस्थान की स्थापना

निम्नलिखित संस्थानों को एकीकृत करके इस संस्थान को डीम्ड विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित किया जाएगा:

पुरातत्व संस्थान (Institute of Archaeology)

  • सांस्कृतिक संपत्ति के संरक्षण के लिए राष्ट्रीय अनुसंधान प्रयोगशाला (National Research Laboratory for Conservation of Cultural Property)
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र का अकादमिक विंग (Academic Wing of Indira Gandhi National Centre for the Arts)
    कला, संरक्षण और संग्रहालय के इतिहास के राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान (National Museum Institute of History of Art, Conservation and Museology)
  • अभिलेखीय अध्ययन के स्कूल (School of Archival Studies)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *