जानिए, बाईडेन-पुतिन शिखर सम्मेलन के बारे में सबकुछ
June 18, 2021
सरकार ने MSME पंजीकरण प्रक्रिया को सरल बनाया
June 18, 2021

WHO ने कोरोनावायरस के B.1.617.2 स्ट्रेन को ‘डेल्टा’ वेरिएंट के रूप में टैग किया, जो अब और बदल गया है। डेल्टा संस्करण के उत्परिवर्तित (mutated) रूप को “Delta Plus” या “AY.1” संस्करण कहा जा रहा है।

ये हैं खास बातें

डेल्टा संस्करण की पहचान भारत में कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर के कारकों में से एक के रूप में की गई थी।
प्रारंभिक आंकड़ों से पता चला है कि, डेल्टा प्लस संस्करण में मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल उपचार के खिलाफ प्रतिरोध है, जिसे हाल ही में केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) द्वारा COVID-19 उपचार के लिए अधिकृत किया गया था।

डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta Plus Variant)

कोरोनावायरस के वेरिएंट B.1.617.2.1 को AY.1 के रूप में जाना जाता है। भारत में अब तक 6 जीनोम में डेल्टा प्लस वेरिएंट की पहचान की गई है। स्वास्थ्य एजेंसी ने नए K417N म्यूटेशन के साथ डेल्टा वेरिएंट के 63 जीनोम की मौजूदगी की भी पुष्टि की है। हालांकि, चिंता का कोई तात्कालिक कारण नहीं है क्योंकि भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट का प्रचलन अभी भी कम है।

दुनिया भर में मामले

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंग्लैंड में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 36 मामले सामने आए हैं। अधिकांश मामले नेपाल, मलेशिया, तुर्की और सिंगापुर की यात्रा से जुड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *