हांगकांग की त्सांग यिन-हंग (Tsang Yin-hung) ने एवरेस्ट की सबसे तेज चढ़ाई का रिकॉर्ड तोड़ा
May 30, 2021
पेन्पा त्सेरिंग बने निर्वासित तिब्बती सरकार के राष्ट्रपति
May 30, 2021

हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (National Digital Health Mission – NDHM) की प्रगति की समीक्षा की। इस बात पर प्रकाश डाला गया कि एक यूनिफाइड हेल्थ इंटरफेस (Unified Health Interface – UHI) जल्द ही शुरू किया जाएगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने 74वें स्वतंत्रता दिवस पर NDHM के शुभारंभ की घोषणा की थी। यह मिशन तीन डिजिटल घोषणाओं का एक हिस्सा है जिसमें एक नई साइबर सुरक्षा नीति और भारत के छह लाख गांवों में ऑप्टिकल फाइबर कनेक्टिविटी शामिल है।

क्या है राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (National Digital Health Mission – NDHM)

NDHM एक पूर्ण डिजिटल स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र है जिसमें चार प्रमुख विशेषताएं हैं – स्वास्थ्य आईडी, डिजी डॉक्टर, व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड और स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री। बाद में इसमें ई-फार्मेसी और टेलीमेडिसिन सेवाएं भी शामिल होंगी। इसे स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण National Health Authority (NHA) द्वारा लागू किया जाएगा। एनडीएचएम प्लेटफॉर्म ऐप के साथ-साथ वेबसाइट वर्जन में भी उपलब्ध होगा।

डिजी डॉक्टर (Digi Doctor) क्या है

यह डॉक्टरों को नामांकन करने की अनुमति देगा और उनकी सहमति के अनुसार उनका विवरण उपलब्ध कराया जाएगा। डॉक्टरों को प्रिस्क्रिप्शन लिखने के लिए मुफ्त में एक डिजिटल हस्ताक्षर भी सौंपा जाएगा।

विशिष्ट स्वास्थ्य आईडी (Unique Health ID)

यह आईडी नागरिकों की स्वास्थ्य संबंधी सभी जानकारियों का भंडार (repository) होगी। अस्पतालों, प्रयोगशालाओं, ऑनलाइन फार्मेसियों, टेलीमेडिसिन फर्मों आदि सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवा प्रदाता इस स्वास्थ्य पहचान प्रणाली में भाग लेंगे। रोगी जो अपने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से उपलब्ध कराना चाहते हैं, उन्हें अपने मूल विवरण, मोबाइल या आधार कार्ड का उपयोग करके विशिष्ट स्वास्थ्य आईडी बनाने की आवश्यकता होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *