Railways-earn-the-biggest-ever-from-the-sale-of-scrap-theedusarthi
Indian Railway : रेलवे को वर्ष 2020-21 में स्‍क्रेप की बिक्री से अब तक की सबसे बडी कमाई
April 7, 2021
RBI-Inflanation-rapo-rate-reverse-repo-rate-theedusarthi
RBI : रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं, जानें क्यों?
April 8, 2021

कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा नई दिल्ली में राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ- नाफेड के मधुक्रांति पोर्टल और हनी कॉर्नर का शुभारंभ किया। इस पोर्टल को शहद और अन्य मधु उत्पादों को ऑनलाइन उपलब्‍ध कराने के लिए विकसित किया गया है। यह शहद की गुणवत्ता और मिलावट के स्रोत की जांच करने में भी मदद करेगा।

राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड की पहल

यह पोर्टल, राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और हनी मिशन के तहत गठित राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड की पहल है। इस परियोजना के लिए नेशनल बी बोर्ड और इंडियन बैंक के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री के अनुसार, भारत में वर्ष 2005-06 की तुलना में अब शहद उत्पादन 242 प्रतिशत बढ़ गया है, वहीं इसके निर्यात में 265 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। शहद के निर्यात में हो रही वृद्धि इस बात का प्रमाण है कि मधुमक्‍खी पालन वर्ष 2024 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्‍य हासिल करने की दिशा में महत्त्वपूर्ण फैक्टर रहेगा।

राष्‍ट्रीय मधुमक्‍खी पालन एवं मधु मिशन (NBHM) एक केंद्रीय क्षेत्रक योजना है, जिसे भारत सरकार द्वारा मुख्य रूप से ‘मीठी क्रांति’ के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु वैज्ञानिक मधुमक्खी पालन के विकास और समग्र संवर्द्धन के लिये शुरू किया गया है।

संबं​धित Full Form

  • NAFED- National Agricultural Cooperative Marketing Federation of India
  • NBE- National Bee Board
  • NBHM- National Beekeeping and Honey Mission

ये भी पढ़ें— Gobar Dhan Scheme : ‘गोबरधन’ योजना की मॉनिटरिंग के लिए एकीकृत वेब पोर्टल लॉन्च, जानें विस्तार से

ये भी पढ़ें— Contract Farming : नए जमाने की खेती, किसानों के लिए फायदा या नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *