dr.-geetarani-theeduarthi
Dr. Geetarani : डॉ. गीतारानी ने पोस्टमार्डम का बनाया रिकार्ड, किए 9500 सर्जरी
March 8, 2021
bajrang punia gold medal theedusarthi
Bajrang Punia : बजरंग पुनिया ने जीता लगातार दूसरा स्वर्ण पदक, बनें विश्व में नंबर 1
March 9, 2021

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने विधानसभा में मध्य प्रदेश विधानसभा में ‘मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2021’ सोमवार को पारित करा लिया। विधेयक में शादी तथा किसी अन्य कपटपूर्ण तरीके से किए गए धर्मांतरण के मामले में अधिकतम 10 साल की कैद एवं भारी जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की स्वीकृति मिलने पर यह कानून नौ जनवरी को अधिसूचित ‘मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश-2020’ की जगह लेगा। प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक मार्च को इस विधेयक को सदन में पेश किया था और सोमवार को चर्चा के बाद इसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया।

राज्य सरकार के इस कानून का उल्लंघन करने वाली किसी भी शादी को शून्य माना जाएगा। मध्य प्रदेश विधानसभा को चार्ल्स कोरिया द्वारा डिजाइन किया गया हैं।

कानून के अनुसार, ‘‘अब जबरन, भयपूर्वक, डरा-धमका कर, प्रलोभन देकर, बहला-फुसलाकर धर्म परिवर्तन कर विवाह करने और करवाने वाले व्यक्ति, संस्था अथवा स्वयंसेवी संस्था के खिलाफ शिकायत प्राप्त होते ही संबंधित प्रावधानों के मुताबिक आरोपियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।’’

अन्य राज्यों में भी धर्मांतरण विरोधी कानून

इससे पहले, उत्तर प्रदेश सरकार ने एक धर्मांतरण विरोधी कानून पारित किया था। इस कानून में भी जबरदस्ती धार्मिक धर्मांतरण के मामले में 10 साल तक की कैद का प्रावधान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *