ISSF World Cup 2021 skeet theedusarthi
ISSF World Cup 2021 : भारतीय पुरुष स्कीट टीम ने जीता कांस्य पदक
February 28, 2021
Free-lawyer-for-people-jharkhand-theedusarthi
Jharkhand : JHALSA गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों को मुहैया कराएगा मुफ्त वकील
March 2, 2021

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कर्मचारियों के पेंशन के लिए अर्हकारी सेवा को परिभाषित करने वाला “उत्तर प्रदेश पेंशन हेतु अर्हकारी सेवा एवं विधिमान्यकरण अध्यादेश-2020” को प्रभावी कर दिया। इस अध्यादेश के उपबंध 1 अप्रैल 1961 से प्रभावी किए गए हैं। अध्यादेश के मुताबिक नियमित किए जाने की तिथि से ही कर्मचारी के पेंशन सेवा की गणना की जाएगी।

क्या हैं आदेश में

शासनादेश में लिखा है कि विभिन्न कारणों से पिछले वर्षों में तदर्थ, कार्य प्रभारित एवं सीजनल आधार पर कर्मचारियों की नियुक्ति हुई है। ऐसे कार्मिकों को राज्य सरकार द्वारा विधिवत विनियमित कर दिए जाने की तिथि से उनकी नियमित सेवा प्रारंभ होती है। इस प्रकार अर्हकारी सेवा का आगणन विनियमितिकरण की तिथि से करते हुए सेवानिवृत्ति लाभ अनुमन्य किए जाते हैं।

यह भी पढ़ें— Space : ISRO ने रचा इतिहास, Amazonia-1 समेत 19 उपग्रह किया लांच

यह भी पढ़ें— UP Budget 2021-22 : UP की योगी आदित्यनाथ सरकार के बजट की बड़ी बातें

यह भी पढ़ें— UP-Police-Flag-Day: जानें यूपी ‘पुलिस झंडा दिवस’ के बारें में महत्वपूर्ण तथ्य

यह भी पढ़ें— Nobel Award for Econocis 2020: पॉल आर मिलग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, जानें क्या है नीलामी सिद्धांत

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *