ISRO-Amazonia-1-theedusarthi
Space : ISRO ने रचा इतिहास, Amazonia-1 समेत 19 उपग्रह किया लांच
February 28, 2021
ayodhya world's largest fundraising campaign theedusarthi
Ayodhya : राम मंदिर निर्माण के लिए 44 दिन में जुटाए गए 2100 करोड़ रुपए
February 28, 2021

स्मार्टफोन पर रास्ता या (भौगोलिक स्थिति) लोकेशन ढूंढ़ने के लिए अमेरिका के ग्लोबल पॉजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) की जगह पर अब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो द्वारा विकसित ‘नाविक’ का इस्तेमाल किया जा सकेगा।

निर्माता और कार्यतंत्र

मोबाइल तथा अन्य दूरसंचार उपकरणों के लिए चिपसेट बनाने वाली अमेरिकी कंपनी क्वॉलकॉम ने भौगोलिक स्थिति तथा मापन के लिए इसरो के नेविगेशन विद इंडियन कॉन्सटेलेशन (नाविक) सिस्टम का परीक्षण पूरा कर लिया है। ‘नाविक’ इसरो द्वारा स्थापित उपग्रहों के तंत्र पर काम करता है जो भारतीय उपमहाद्वीप में जीपीएस के विकल्प के रूप में विकसित किया गया है।

नाविक का लाभ

‘नाविक’ के इस्तेमाल के लिए इसरो से प्रौद्योगिकी खरीदने वाली क्वालकॉम पहली बड़ी चिपसेट कंपनी है। इससे भारतीय उपमहाद्वीप में ‘नाविक’ के प्रसार, भौगोलिक स्थिति के मापन को बेहतर बनाने तथा ऑटोमोटिव और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) से जुड़े समाधान ढूंढ़ने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें— C.V.Raman: जानें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित एशिया के पहले वैज्ञानिक डॉ. सी वी रमन के बारे में सबकुछ

यह भी पढ़ें— Dr. Rajendra Prasad : जानें भारत के संत राष्ट्रपति से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

यह भी पढ़ें— Zee TV : आईपीएल की तर्ज पर रियलिटी शो आईपीएमएल का होगा आयोजन

यह भी पढ़ें— UTTAR PRADESH : सी-प्लान ऐप, पुलिस ऐसे करेगी उपयोग

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *