power-sector-andhra-pradesh-theedusarthi
Andhra Pradesh : बिजली क्षेत्र में सुधार करने वाला दूसरा राज्य बना आंध्र प्रदेश
February 5, 2021
khelo-india-theedusarthi
Khelo India Programme : नयी खेलो इंडिया योजना लाने की तैयारी में मोदी सरकार
February 5, 2021

नो-परमिशन-नो-टेक-ऑफ (NPNT) के अनुकूल ड्रोन के ऑपरेशन को सुविधाजनक बनाने के मद्देनजर यह मंजूरी गृह मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय द्वारा दी गई थी। मंत्रालय ने इससे पहले छह ग्रीन ज़ोन साइटों के लिए भी अपनी मंजूरी दे दी है। यह आदेश नागरिक उड्डयन मंत्रालय के संयुक्त सचिव अंबर दुबे द्वारा जारी किया गया हैं।

NPNT

NPNT एक ऑटोमेटेड ग्रीन सिग्नल है। इस ग्रीन सिग्नल के बिना ड्रोन उड़ान भरने के लिए अधिकृत नहीं हैं। ऐसे स्वचालित उड़ान प्राधिकरण को संभालने के लिए, वर्तमान में डिजिटल स्काई नामक प्लेटफार्म को विकसित किया जा रहा है।

राज्यों में ग्रीन जोन

  • उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 8 ग्रीन ज़ोन हैं।
  • झारखंड में 6 ग्रीन जोन है।
  • छत्तीसगढ़ में 4 ग्रीन जोन है।
  • तेलंगाना में 2 ग्रीन जोन हैं।
  • आंध्र प्रदेश, मेघालय, गुजरात, ओडिशा, मिजोरम और तमिलनाडु में 1—1 ग्रीन जोन को मंज़ूरी दी गयी है।

बिना अनुमति नो फ्लाइट

उड़ान की अनुमति प्राप्त करने के लिए RPAS (Remotely Piloted Aerial Systems) ऑपरेटरों या रिमोट पायलटों को फ्लाइट प्लान फाइल करना होगा। ग्रीन-जोन ’में उड़ान भरने के लिए, पोर्टल या एप्प के माध्यम से उड़ानों के समय और स्थान की सूचना देनी होगी येलो जोन में उड़ान भरने के लिए अनुमति की आवश्यकता होगी लेकिन, किसी भी उड़ान को ‘लाल क्षेत्रों’ में उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *