Greta Thanberg theedusarthi
Greta Thunberg : जानें टाइम मैंगजीन के पर्सन आफ दि इयर से सम्मानित ग्रेटा थनवर्ग के बारे में
February 5, 2021
Green Zone and Drone theedusarthi
Green Zone : ग्रीन जोन में ड्रोन उड़ाने संबंधी आदेश-निर्देश
February 5, 2021
Show all

Andhra Pradesh : बिजली क्षेत्र में सुधार करने वाला दूसरा राज्य बना आंध्र प्रदेश

power-sector-andhra-pradesh-theedusarthi

आंध्र प्रदेश राज्य ने 2020 में पेश किये गए तीन सुधारों में से एक को लागू किया है। सुधार के तहत, राज्य ने सितंबर, 2020 से ही किसानों को बिजली सब्सिडी का प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) शुरू किया। सुधार लागू करने के बाद, राज्य अब सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) के 15 प्रतिशत के बराबर अतिरिक्त वित्तीय संसाधन जुटाने के लिए पात्र है। आंध्र प्रदेश ने बिजली क्षेत्र में सुधार के अलावा वन नेशन वन राशन कार्ड सुधार, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस सुधार और शहरी स्थानीय निकाय सुधारों को भी पूरा किया है। इस प्रकार, आंध्र प्रदेश को प्रोत्साहन के रूप में 9,190 करोड़ की कुल अतिरिक्त राशि जुटाने की अनुमति दी गई है। इस राशि का उपयोग चार नागरिक केंद्रित क्षेत्रों में सुधारों के लिए किया जाएगा। आंध्र प्रदेश से पहले, मध्य प्रदेश ने बिजली क्षेत्र में सुधार किए थे। इसे रुपये की अतिरिक्त उधार अनुमति दी गई थी।

भूमिका

भारत सरकार ने मई 2020 में COVID-19 महामारी के बीच राज्यों के सामने आने वाली चुनौतियों की पृष्ठभूमि में राज्यों की उधार सीमा को जीएसडीपी के 2 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है। इसके अलावा, राज्यों को जीएसडीपी की 0.25% अतिरिक्त धन राशि जुटाने की अनुमति दी गई थी। इस उद्देश्य के लिए चार नागरिक केन्द्रित क्षेत्रों की पहचान की गई थी, जिसमें ईज ऑफ़ डूइंग बिज़नेस सुधार, वन नेशन वन राशन कार्ड प्रणाली का कार्यान्वयन, शहरी स्थानीय निकाय या उपयोगिता सुधार और पावर सेक्टर सुधार शामिल हैं।

ये भी पढ़ें— एशिया में स्थित देश और उनकी राजधानियां

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *