NASA-theedusarthi
NASA : नासा करेगा अब तक के सबसे शक्तिशाली रॉकेट का परीक्षण, जानें इसकी खासियतें
January 12, 2021
Cuba designated as terrorism sponsor country theedusarthi
Terrorism : क्यूबा आतंकवाद प्रायोजक देश के रूप में नामित, जानिए क्या है वजह
January 12, 2021

राष्ट्रीय युवा संसद महोत्‍सव का उद्देश्य 18 से 25 वर्ष के बीच के युवाओं के विचारों को सुनना है जो मतदान करने का अधिकार रखते हैं और आने वाले वर्षों में सार्वजनिक सेवाओं सहित विभिन्न सेवाओं में शामिल होंगे

राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव का शुभारंभ

राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव (NYPF) की अवधारणा प्रधानमंत्री के 31 दिसंबर, 2017 को अपने मन की बात के संबोधन में व्‍यक्‍त किए गए विचार पर आधारित है। इस विचार से प्रेरणा लेते हुए, पहला महोत्सव ‘भारत की नई आवाज बनें और समाधान खोजें एवं नीति के लिए योगदान दें’ विषय के साथ 12 जनवरी से 27 फरवरी 2019 तक आयोजित किया गया था। पीएमओ के मुताबिक, दूसरा एनवाईपीएफ ऑनलाइन माध्‍यम से 23 दिसंबर, 2020 को आयोजित किया गया था और पहले चरण में देश भर के 2.34 लाख युवाओं ने भाग लिया।
इसके बाद 1 से 5 जनवरी, 2021 तक वर्चुअल माध्यम से राज्य युवा संसदों द्वारा इसका अनुसरण किया गया। दूसरे एनवाईपीएफ का समापन कार्यक्रम 11 जनवरी, 2021 को संसद के सेंट्रल हॉल में आयोजित किया गया। पीएमओ के मुताबिक, राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन हर वर्ष 12 से 16 जनवरी को किया जाता हैं 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती है, जिसे राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष राष्ट्रीय युवा महोत्सव के साथ-साथ एनवाईपीएफ का भी आयोजन किया जा रहा है।

पीएम मोदी की बात

प्रधानमंत्री ने संबोधन में कहा कि वह फाइनल में पहुंचे विजेताओं के भाषण अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करेंगे। उन्होंने कहा कि आप सभी को राष्ट्रीय युवा दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं। स्वामी विवेकानंद की जन्म जयंती का दिन हम सभी को नई प्रेरणा देता है। पीएम ने कहा कि आज का ये दिन विशेष इसलिए भी हो गया है कि इस बार युवा संसद देश की संसद के सेंट्रल हॉल में हो रही है। ये सेंट्रल हॉल हमारे संविधान के निर्माण का गवाह है।

एक नजर में

  • वर्ष 2021 में दूसरे राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव का आयोजन किया गया।
  •  12 जनवरी को स्वामी विवेकानन्द के जन्म दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है।
  • स्वामी विवेकानंद ने रामकृष्ण मिशन की स्थापना की थी।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *