Arya Rajendran theedusarthi
Arya Rajendran : भारत की सबसे युवा मेयर चुनी गईं आर्या, रचा इतिहास
December 26, 2020
India will be world's third major economy theedusarthi
Indian Economy : 2030 तक विश्व की तीसरी बड़ी इकॉनमी होगी भारत की, जानें विस्तार से
December 26, 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयुष्मान भारत योजना के तहत संघशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के लिए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ‘सेहत’ की शुरुआत की। इस योजना को पीएम-जय के नाम से भी जाना जाता है।

आयुष्माण भारत के तहत लगभग 229 सरकारी अस्पताल और 35 निजी अस्पताल आते हैं। इस योजना से जम्मू-कश्मीर के लोगों को 5 लाख रुपये तक की मुफ्त स्वास्थ्य सेवा मिल सकेगी यह योजना जम्मू-कश्मीर संघशासित प्रदेश में रहने वाले सभी लोगों को मुफ्त बीमा कवर प्रदान करती है। इसके अंतर्गत जम्मू-कश्मीर के सभी निवासियों को फ्लोटर बेसिस पर पांच लाख रुपये प्रति परिवार वित्तीय कवर उपलब्ध कराया जाएगा। यह योजना बीमा मोड पर पीएम-जय के साथ मिलकर संचालित होगी। इस योजना का लाभ पूरे देश में कहीं भी उठाया जा सकता है। पीएम-जेएवाई योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल इस योजना के तहत भी सेवाएं प्रदान करेंगे।

ये भी पढ़ें— Jammu-Kashmir: जम्‍मू-कश्‍मीर को बड़ा तोहफा, केन्द्रीय कैबिनेट ने पंचायती राज अधिनियम- 1989 को लागू करने की दी मंजूरी

योजना के लाभ

सार्वभौम स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) में स्वास्थ्य संवर्धन से लेकर रोकथाम, उपचार, पुनर्वास और आवश्यक, गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं का पूरा स्पेक्ट्रम और चिकित्सकीय देखभाल शामिल है। इसके माध्यम से सेवाओं तक सभी की पहुंच होती है, लोगों को अपनी जेब से स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भुगतान करने की जरूरत नहीं पड़ती है और इलाज के चलते लोगों के गरीबी के दलदल में फंसने का जोखिम कम करता है। आयुष्मान भारत कार्यक्रम के दो स्तंभों- स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना- के तहत सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज हासिल करने की परिकल्पना की गई है।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *