Post-trade agreement between UK and EU theedusarthi
Brexit : ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के बीच ब्रैक्जिट बाद का व्यापार समझौता संपन्न, जानें विस्तार से
December 25, 2020
Atal Bihari Vajpayee theedusarthi
Atal Bihari Vajpayee : भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी विशेष
December 25, 2020
Show all

Good Governance Day 2020 : … इसलिए 25 दिसंबर को मनाया जाता है सुशासन दिवस

Good Governance Day theedusarthi

भारत रत्न एवं भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी की जयंती के उपलक्ष्य में हर वर्ष भारत में ‘गुड गवर्नेंस डे’ मनाया जाता है। यह दिन पूरी तरह से पूर्व पीएम अटल विहारी वाजपेयी को समर्पित होता है।

इस​की शुरूआत अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में वर्ष 2014 में भारत सरकार ने शुरू की थी। इसका उद्देश्य लोगों में जवाबदेही के साथ जागरूकता को बढ़ावा देना था। इस सिद्धांत को ध्यान में रखते हुए, सुशासन दिवस को सरकार के लिए कार्य दिवस घोषित किया गया है। अटल बिहारी वाजपेयी एक भारतीय राजनीतिज्ञ और असाधारण लेखक एवं कवि थे, जिन्होंने भारत के 10वें प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया। एक बार अटल बिहारी बाजपेयी ने कहा था, “एक दिन आप एक पूर्व प्रधान मंत्री हो जाएंगे, लेकिन आप कभी पूर्व-कवि नहीं होंगे”।

यह भी पढ़ें— ATAL SURANG: विश्व के सबसे बड़े राजमार्ग सुरंग के बारें में जानें सबकुछ

सुशासन दिवस का इतिहास

23 दिसंबर 2014 को अटल बिहारी वाजपेयी और पंडित मदन मोहन मालवीय (मरणोपरांत) को भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, भारत रत्न से सम्मानित किए जाने की घोषणा गई थी। इस घोषणा के बाद, नरेन्द्र मोदी सरकार ने घोषणा की कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी जी की जयंती को भारत में हर वर्ष सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

सुशासन दिवस का उद्देश्य

  • देश में पारदर्शी और जवाबदेह प्रशासन प्रदान करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता से लोगों को अवगत कराना।
  • सुशासन दिवस लोगों के कल्याण और बेहतरी को बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।
  • यह सरकारी कामकाज को मानकीकृत करने और इसे देश के नागरिकों के लिए अत्यधिक प्रभावी और जवाबदेह शासन बनाने के लिए मनाया जाता है।
  • सुशासन के माध्यम से देश में विकास को बढ़ावा देना।

यह भी पढ़ें— Nobel Peace Prize 2020: WFP को मिला 2020 का नोबेल शांति पुरस्कार, जानें रोचक तथ्य

एक नजर में

  • अटल बिहारी वाजपेयी को डा. राजेन्द्र प्रसाद की तरह अजातशत्रु कहा जाता था।
  • ये पहले ऐसे राजनेता थे जिन्होनें संयुक्त राष्ट्र में हिन्दी में भाषण दिया था।
  • वर्ष 2018 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया।
  • अटल बिहारी वाजपयेी और बीएचयू के संस्थापक मदन मोहन मालवीय को भारतरत्न से सम्मानित किया जा चुका है।
  • भारतरत्न भारत का सबसे प्रमुख नागरिक सम्मान है।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं। Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *