satish-prasad-singh-theedusarthi
Bihar Election: बिहार के पूर्व सीएम सतीश प्रसाद सिंह का निधन, जानें चौथी विधानसभा चुनाव में इतने मुख्यमंत्री कैसे बने
November 2, 2020
Air-pollution-theedusarthi
Air Pollution: हवा में सुधार के लिए 15 राज्‍यों को 22 अरब रूपये की पहली किस्‍त जारी, जानें विस्तार से
November 3, 2020

कोरोना महामारी के बीच भारत सरकार और आरबीआई देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए हर तरीके अपना रही हैं। सरकार का अनुमान है कि, वर्ष 2021 तक देश में डिजिटल लेनदेन चार गुना तक बढ़ जाएगा। भारत में लोग डिजिटल लेनदेन के लिए यूपीआई (UPI) यानी यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस का काफी इस्तेमाल करते हैं।

आकड़ें

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत के अनुसार, अक्बटूर 2020 में यूपीआई के जरिए 2 अरब से ज्यादा लेनदेन हुए। यूपीआई के जरिए अक्बटूर 2019 में 1.14 अरब लेनदेन हुए थे। इसमें अब 80 फीसदी की वृद्धि हुई है और यह आंकड़ा पिछले महीने 2.07 अरब हो गया है। मूल्य की बात करें, तो लेनदेन का मूल्य 101 फीसदी बढ़कर 1,91,359.94 करोड़ रुपये से 3,86,106.74 करोड़ रुपये हो गया है।

यूपीआई का मतलब

यूपीआई यानी यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस एक अंतर बैंक फंड ट्रांसफर की सुविधा प्रदान करता है, जिसके जरिए स्मार्टफोन पर फोन नंबर और वर्चुअल आईडी की मदद से कही भी पेमेंट की जा सकती है। यह इंटरनेट बैंक फंड ट्रांसफर के मकैनिज्म पर आधारित है।

सावधानी से करे इस्तेमाल

एनपीसीआई के द्वारा इस सिस्टम को कंट्रोल किया जाता है। यूजर्स यूपीआई से कुछ समय में ही घर बैठे ही पेमेंट के साथ मनी ट्रांसफर करते हैं। डिजिटल लेनदेन ग्राहकों के लिए लाभदायक होने के साथ-साथ उनके लिए खतरा भी है। देश में तकनीक के बढ़ने के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी तेजी से बढ़ रही है। हैकर्स आम लोगों को ठगने के लिए रोज नए-नए तरीकों का उपयोग कर रहे हैं।
नुकसान पहुंचाने वाले एप्लीकेशन आपके फोन के माध्यम से आपकी निजी जानकारी का पता लगा सकते हैं। इसमें भुगतान से जुड़ी जानकारी भी शामिल है। अपने यूपीआई पिन को संभाल कर रखें क्योंकि इससे यह पीन लीक होने के बाद आपका अकाउंट खाली हो सकता है। सावधानी के लिए भीम यूपीआई जैसे सुरक्षित एप्लिकेशन पर ही यूपीआई पिन का इस्तेमाल करें। अगर किसी वेबसाइट या फॉर्म में यूपीआई पिन डालने के लिए लिंक दिया गया हो, तो उससे बचें।
लेनदेन करते समय एक बात का खास ध्यान रखें कि आपसे यूपीआई पिन डालने के लिए सिर्फ तब ही कहा जाएगा जब आपको पैसे भेजने हों। यदि आपको कहीं से पैसे मिल रहे हैं और उसके लिए आपसे यूपीआई पिन मांगा जा रहा है, तो जान लें कि ये फ्रॉड हो सकता है। आपका यूपीआई पिन एटीएम पिन की तरह ही होता है। इसलिए इसे किसी के साथ साझा ना करें।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।
Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *