jp-theedusarthi
Jaiprakash Narayan: लोकतंत्र के नायक जयप्रकाश नारायण विशेष
October 11, 2020
16 march theedusarthi_current_affairs_quiz
Quiz: 11 अक्टूबर 2020 करेंट अफेयर्स क्विज
October 11, 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के माध्यम से स्वामित्व योजना के अंतर्गत संपत्ति कार्ड वितरण का शुभारंभ करेंगे। ग्रामीण भारत में बदलाव लाने और लाखों लोगों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से तैयार की गई स्वामित्व योजना पंचायती राज मंत्रालय का प्रमुख कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में मकान मालिकों को मकान के अधिकार का रिकॉर्ड उपलब्ध कराना और संपत्ति कार्ड जारी करना है। कार्ड वितरित किए जाने के आयोजन के दौरान प्रधानमंत्री कुछ लाभार्थियों से बातचीत भी करेंगे।

स्‍वामित्‍व योजना और लाभ

केंद्र सरकार की यह योजना 24 अप्रैल 2020 को लॉन्‍च की गई थी। पंचायती राज मंत्रालय ही इस योजना को लागू कराने वाला नोडल मंत्रालय है। राज्‍यों में योजना के लिए राजस्‍व/भूलेख विभाग नोडल विभाग हैं। ड्रोन्‍स के जरिए प्रॉपर्टी के सर्वे के लिए सर्वे ऑफ इंडिया नोडल एजेंसी है। योजना का मकसद है कि ग्रामीण इलाकों की जमीनों का सीमांकन ड्रोन सर्वे टेक्‍नोलॉजी के जरिए हो। इससे ग्रामीण इलाकों मे मौजूद घरों के मालिकों के मालिकाना हक का एक रिकॉर्ड बनेगा। वह इसका इस्‍तेमाल बैंकों से कर्ज लेने के अलावा अन्‍य कामों में भी कर सकते हैं। यह योजना चार वर्ष की अवधि में चरणबद्ध रूप से पूरे देश में लागू की जाएगी। इसके दायरे में 6 लाख 62 हजार गांव आएंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अनुसार, स्वामित्व योजना ग्रामीण भारत में सकारात्मक बदलाव लाएगी। संपत्ति के मालिकाना हक का आधिकारिक दस्तावेज ग्रामीणों को सशक्त बनाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे उन्हें बैंक ऋण सहित कई वित्तीय सुविधाएं मिल सकेंगी।

कैसे मिलेगा प्रमाणपत्र

स्‍वामित्‍व योजना के अंतर्गत सम्‍पत्ति कार्ड वितरण की शुरुआत होने से लगभग एक लाख सम्‍पत्तिधारक अपने मोबाइल फोन पर प्राप्‍त एसएमएस लिंक के माध्‍यम से सम्‍पत्ति कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे। इसके बाद संबंधित राज्‍य सरकारें सम्‍पत्ति कार्ड का वितरण करेंगे। इसके अंतर्गत छह राज्‍यों के 763‍ गांवों के लोग लाभांवित होंगे।

किस राज्य के कितने गांव

इनमें उत्‍तर प्रदेश के 346, हरियाणा के 221 और महाराष्‍ट्र के 100, मध्‍यप्रदेश के 44, उत्‍तराखंड के 50 और कर्नाटक के दो गांव शामिल हैं। इस योजना के तहत सम्‍पत्ति कार्ड होने पर ग्रामवासियों के लिए ऋण और अन्‍य वित्‍तीय लाभ लेने का रास्‍ता खुलेगा। देश में पहली बार गांवों के लाखों सम्‍पत्ति धारकों को तकनीक के माध्‍यम से इस तरह की सुविधा इतने बड़े पैमाने पर उपलब्‍ध कराई जा रही है।

नोट

राष्‍ट्रीय पंचायती दिवस 24 अप्रैल को मनाया जाता है।

TheEdusarthi.com टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।
Subscribe to Notifications

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *