AIIMS में नर्सिंग ऑफिसर के 4000 पदों पर निकलीं वैकेंसी, जल्द करें अप्लाई
August 10, 2020
theedusarthi_eliminate_polio
पोलियो मुक्त हुआ आफ्रिका, जानें पूरी खबर
August 26, 2020

भारतीय रेलवे और कृषि मंत्रालय के संयुक्त प्रयास से “पहली किसान रेल”  की शुरूआत हुई है। रेल मंत्री पियुष गोयल ने भारत में पहली किसान रेल का वीडियों कांफ्रेसिंग के जरिए शुभारंभ किया। पहली किसान ट्रेन महाराष्ट्र के देवलाली से 7 अगस्त को चालु हुई जो बिहार के दानापुर पहुंचेगी। पहली किसान रेल अगले दिन खाने—पीने वाले सामान के साथ वापस अपने गंतव्य स्थान पर लौट जाएंगी।
इस ट्रेन की मदद से किसानों के जल्द खराब होने वाले सामान को समय से सभी जगहोें पर पहुंचाया जा सकेगा। ऐसी रेलगाड़ियों को चलाने की घोषणा इस वर्ष के बजट में की गई थी। वर्तमान समय में यह ट्रेन सप्ताहिक होगी। इसमें डिब्बों की संख्या 11 निश्चित की गई है। इसकी सहायता से किसानों के मेहनत से पैदा किए गए सामानों को जरूरतमंद बाजारो तक समय से पहुंचाया जा सकेगा। इसमें ताजा सब्जियां, फल, फूल और मतस्य से जुड़ी चीजें देश के अलग—अलग भागों में पहुंचाये जाने की योजना है।

समय एवं दूरी किसान रेल
पहली किसान ट्रेन महाराष्ट्र के देवलाली से 11 बजे खुलने के बाद अगले दिन को शाम को पौने सात बजे दानापुर पहुंचेगी। इस ट्रेन को 1519 किलोमीटर की दूरी तय करनी है। यह ट्रेन नासिक रोड़, मनमाड़, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मणिकपुर, प्रयागराज, पं. दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर स्टेशनों पर रूकते हुए जाएगी।
किसान ट्रेन की खसियत
इस ट्रेन में रेफ्रिजरेटेड/प्रशीतक कोच लगे है, इसे भारतीय रेलवे ने 17 टन की क्षमता तक के लिए बनाया है। रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला के द्वारा बनाया गया है। इसके सभी कंटेनर में प्रशीतक लगे होंगे। इससे समझा जा सकता है कि यह एक चलता—फिरता कोल्ड स्टोरेज की तरह होगा। जिससे जल्दी खराब होने वाले सामान जैसे दूध, सब्जियां, फल और मतस्य एवं मांस उत्पाद सुरक्षित रहेंगे।
​कृषि मंत्रालय का कहना है कि यह फैसला किसानों की आय को दुगुना करने के लिए किया गया है। वर्तमान केन्द्र सरकार वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दुगुना करने के लक्ष्य को लेकर चल रहीं है।
नोट:
वर्तमान में रेल मंत्री पियुष गोयल है।
वर्तमान कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर है।
रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला पंचाब में स्थित है जो जालंधर—फिरोजपुर रेलवे लाइन पर स्थित है। यह रेलवे के लिए कोच बनाने वाली फैक्ट्री है। इसकी स्थापना 1986 में हुई थी।

दानापुर बिहार की राजधानी पटना से (वाया सड़क मार्ग) लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *