General_science_quiz_theedusarthi
सामान्य विज्ञान क्विज 1
July 18, 2020
19 जुलाई करेंट अफेयर्स एवं सामान्य अध्ययन
July 19, 2020

भारत को गणित की दुनिया में महारत हासिल है, यहां के छात्र एवं गुरू गणित के सवालों को पलभर में हल करने की काबिलियत रखते है। जब दुनिया गिनती भी नहीं जानती थी तब भारत में गणित की शिक्षा—दिक्षा होती थी, इसके ग्रंथ मौजुद थे।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोफेसर सी.एस. सेशाद्रि (एफआरएस) के निधन पर शोक व्य​क्त किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि हिनदुस्तान ने एक अच्छे बुद्धिजीवीं को खो दिया है। इन्होंने गणित के क्षेत्र में शानदार काम किया था। कल 88 वर्ष की उम्र की उम्र में इनका निधन हो गया। ये आजादी के बाद के समय के प्रख्यात गतिणतज्ञ थे।
सी.एस.सेशाद्रि चेन्नई गणित संस्थान के संस्थापक और डायरेक्टर रहें है। इन्हें अंक​गणितीय ज्यामिती ,सेशाद्रि कंस्टेंट, नरसिम्हा—सेशाद्रि थ्यूरम में  योगदान के लिए जाना जाता है।

जन्म

29 फरवरी 1932 को कांचीपुरम में इनका जन्म हुआ था। इनका पुरा नाम कंजीवरम श्रीरंगाचारी सेशाद्रि था।
शिक्षा
लोयला कॉलेज, टाटा इंस्टिटयूट आफ फंडामेंटल रिसर्च और मुंबई विश्वविद्यालय से इनकी शिक्षा हुई है।
पुरस्कार

शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार , फेलों आफ द रॉयल सोसायटी, पद्म भूषण सम्मान से इन्हें सम्मानित किया जा चुका है।

वर्ष 2009 में इन्हें पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित किया गया था, जो भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।
शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार
शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार विज्ञान के क्षेत्र में दिया जाता है। 1958 में यह पहली बार प्रदान किया गया था। इस पुरस्कार के तहत 5 लाख रूपये की राशि प्रदान की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *