विश्व जनसंख्या दिवस: आज ही क्यों जाने विस्तार से
July 11, 2020
13 जुलाई करेंट अफेयर्स एवं सामान्य अध्ययन
July 13, 2020

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

दुनिया में बनाएं जाने वाले कीर्तिमान में से जो सर्वश्रेष्ठ होता है, जिसे विशेषज्ञ प्रमाणित मान लेते है। वही कीर्तिमान गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया जाता है। इसकी स्थापना 1955 में की गई थी। 1955—95 तक इसे गिनीज बुक आफ रिकॉर्ड  कहा जाता था। यह दुनिया के 100 देशों की लगभग 23 भाषाओं में प्रकाशित किया जाता है। यह पुस्तक वार्षिक प्रकाशित की जाती है। इसके को—फाउंडर नॉरिस मैकराइटर और रॉस मैकराइटर, लंदन रहें है। 2020 में इसके 66 वर्ष पूरे हो चुके है। जीम पैटिशन ग्रुप इसका प्रकाशन करता है।

दुनिया का सबसे बड़ा सर्वे

भारत में 2018 में बाघों पर किया गया सर्वे गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो गया है। द ऑल इंडिया टाइगर एस्टीमेशन की ओर से बाघों पर किया गया यह दुनिया का सबसे बड़ा सर्वे साबित हुआ है। यह 1 लाख 21 हजार 337 वर्ग किमी में किया गया। इसमें 26 हजार 760 स्थानों की अलग-अलग लोकेशन पर कैमरे लगाए गए। इनसे वन्यजीवों के 3.5 करोड़ से ज्यादा फोटो लिए गए। इनमें से 76 हजार 651 फोटो बाघ के और 51 हजार 777 फोटो तेंदुए के हैं।

2018 में ही हुआ था सर्वे

यह सर्वे 2018 का है। इसे पिछले साल जारी किया गया था, जबकि वर्ल्ड रिकॉर्ड की घोषणा अब की गई है। इस सर्वे के मुताबिक देश में शावकों को छोड़कर बाघों की संख्या 2461 और कुल संख्या 2967 है। 2006 में यह संख्या 1411 थी। तब भारत ने इसे 2022 तक दोगुना करने का लक्ष्य तय किया था। भारत में सबसे ज्यादा 1492 बाघ तीन राज्यों मध्य प्रदेश, कर्नाटक और उत्तराखंड में हैं।

टाईगर रिजर्व

टाईगर रिजर्व उन संरक्षित क्षेत्रों को कहा जाता है जहां बाघों कों रखा जाता है, उनके रख—रखाव का ख्याल रखा जाता है, उनके प्रजनन को बढ़ावा दिया जाता है एवं उनपर होने वाली हिंसा/शिकार से बचाया जाता है। भारत ने बाघों की गणना करने का अनोखा रिकार्ड बनाया है।

प्रोजेक्ट टाइगर 

प्रोजेक्ट टाइगर की शुरूआत अप्रैल 1973 में भारत सरकार द्वारा की गई थी। कैलाश संखला टाइगर प्रोजेक्ट के पहले डायरेक्टर थे। इसका गठन पूर्व प्रधानमंत्री ​इंदिरा गांधी के शासन में हुआ था।

भारत में टाइगर रिजर्व

भारत में 50 टाइगर रिजर्व है, जो राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्रधिकरण की निगरानी में है। विश्व के लगभग 80 प्रतिशत बाघों का आवास/घर भारत ही है।

अभ्यारणय                                                                              राज्य
जीम कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान, राजाजी नेशनल पार्क   —         उत्तराखंड
बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान, भ्रदा अभ्यारणय , नगराहोल अभ्यारणय, टंडेली—अंशी टाईगर रिजर्व    —  कर्नाटक
कान्हा नेशनल पार्क, बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व , संजय नेशनल पार्क, सतपुड़ा टाईगर रिजर्व ,पेंच अभ्यारणय, पन्ना अभ्यारणय   —        मध्य प्रदेश
मानस वन्य जीव अभ्यारणय, नमेंरी नेशनल पार्क, औरांग अभ्यारणय, काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान  — असम
मेलघाट अभ्यारणय,तदोबा अंधारी टाईगर रिजर्व, बोर वन्यजीव अभ्यराणय, शहाद्री टाईगर रिजर्व, नयागांव नेशनल पार्क        —    महाराष्ट्र

रणथंभौर अभ्यारणय, मुकंदरा हिल्स, सरिस्का अभ्यारणय       —     राजस्थान
सिमलीपाल अभ्यारणय, सतकोशिया टाईगर रिजर्व   —    ओडिशा
संदरवन अभ्यारणय,  बक्सा अभ्यारणय              — पश्चिम बंगाल
पेरियार वन्यजीव अभ्यारणय, परंबीकुलम टाईगर रिजर्व   — केरल
इंद्रावती अभ्यारणय, अचानकमार अभ्यारणय, सितांनदी वन्यजीव अभ्यारणय  —                                                    छत्तीसगढ़
कलकमुंडाथुराई वन्यजीव अभ्यारणय, सत्यामंगलम तमिलनाडु, मुद्दुमलाई अभ्यारणय , अन्नामलाई अभ्यारणय–  तमिलनाडु
नागार्जुन सागर सिरिसीलम टाइगर रिजर्व, कवल टाईगर रिजर्व, अमराबाद अभ्यारणय  —    तेलंगाना

नामदफा अभ्यारणय, कमलांग वन्यजीव अभ्यारणय    —  अरूणाचल प्रदेश
दुधवा नेशनल पार्क , पीलिभित अभ्यारणय       —             उत्तर प्रदेश
वाल्मीकि टाईगर रिजर्व                 —         पश्चिम  चंपारण, बिहार
डम्पा अभ्यारणय                         —              मिजोरम
पलामू वन्यजीव अभ्यारणय            —            झारखंड

नोट: नागार्जुन सागर सिरिसीलम टाइगर रिजर्व तेलंगाना भारत का सबसे बड़ा टाईगर रिजर्व है, जो तेलंगाना के 5 जिलों (करनूल, प्रकाशम, गंटूर,नालगोंड़ा और महबूबनगर ) तक फैला हुआ है। इसका क्षेत्रफल 3728 वर्ग किलोमीटर है। 1983 में इसकी स्थापना हुई थी।

भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ है,  जिसका अधिकारिक नाम पैंथरा टिग्रिस लिन्नायस है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *