MHRD AICTE COVID-19 स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल लॉन्च
April 7, 2020
NASA-success-cover-corbondiooxide-to-oxygen-theedusarthi
नासा का नया उपग्रह ज्वालामुखी और भूकंप की चेतावनी देगा
April 7, 2020

केंद्र सरकार ने राज्यों को मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति सुचारू और परेशानी मुक्त बनाए रखने के लिए कहा है। मेडिकल ऑक्सीजन आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची में और आवश्यक दवाओं की डब्ल्यूएचओ सूची में भी शामिल है।

क्या है मेडिकल ऑक्सीजन

मेडिकल ऑक्सीजन शुद्ध ऑक्सीजन है। इसमें 99.5% शुद्ध ऑक्सीजन होती है। आमतौर पर, जिस हवा में हम सांस लेते हैं, उसमें 21% ऑक्सीजन होती है। जब वायुमंडल में अशुद्धियां बढ़ती हैं, तो ऑक्सीजन की एकाग्रता घट जाती है।

आवश्यक दवाओं की सूची

आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची डब्ल्यूएचओ की आवश्यक दवाओं की सूची का एक मॉडल है। आवश्यक दवाएं वे दवाएं हैं, जो आबादी की प्राथमिक स्वास्थ्य आवश्यकताओं को पूरा करती हैं। तंजानिया 1970 में आवश्यक दवाओं की सूची बनाने वाला विश्व का पहला देश था। डब्ल्यूएचओ ने 1977 में आवश्यक दवाएं प्रकाशित की थीं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार किसी देश की आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची देश की बीमारी के बोझ पर निर्भर करती है।

आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची

भारत की पहली आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची 1996 में जारी किया की गई थी। इस सूची में 279 दवाएं शामिल थीं। 2003 में सूची को संशोधित करके दवाओं को 354 कर दिया गया। बाद में 2011 में सूची को 348 दवाओं के लिए अद्यतन किया गया था। 2018 में सूची को 851 दवाओं के लिए अद्यतन किया गया था। पहली बार कार्डियक स्टेंट, कंडोम, ड्रग एल्यूटिंग स्टेंट और इंट्रा यूटेराइन डिवाइस को भारत में आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची के तहत रखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *