मो जीबन कार्यक्रम क्या है?
March 29, 2020
अब ट्रेनें बनेगीं चलता-फिरता अस्पताल
March 29, 2020

यदि कोई व्यक्ति पहले वायरस से संक्रमित था, तो इसकी पुष्टि करने के लिए भारत एंटीबॉडी परीक्षण शुरू जा रहा है। यह COVID-19 महामारी को समझने में मदद करेगा। भारत द्वारा अपनाई गई कार्यप्रणाली विश्व में प्रथम बार है। यह एक सीरोलॉजिकल टेस्ट है, जो रक्त में एंटीबॉडी की खोज करता है। यह परीक्षण मौजूदा तरीकों से अलग है, जो सक्रिय संक्रमण का निर्धारण करने के लिए नाक या गले के हिस्से का उपयोग करते हैं।

यह परीक्षण निर्धारित करता है कि व्यक्ति के रक्त में एंटीबॉडी की उपस्थिति के आधार पर वायरल संक्रमण था अथवा नहीं। एंटीबॉडी परीक्षण एक पुष्टिकरण परीक्षण नहीं है। हालांकि, यह निगरानी के उद्देश्य के लिए एक उपयोगी परीक्षण है। यह उन लोगों की संख्या के बारे में डाटा एकत्रित करने में मदद करता है, जो वायरस के संपर्क में आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *